Nazir Wani : आतंकवादी से फौजी बने को मिलेगा सरकारी सन्मान Nazir Wani : आतंकवादी से फौजी बने को मिलेगा सरकारी सन्मान
Search
Nazir Ahmed Wani

आतंकवादी से फौजी बने Nazir Ahmed Wani को मिलेगा सरकारी सन्मान

34
  • अशोक चक्र शांतिकाल में दिया जाने वाला सर्वोच्च सैन्य वीरता पुरस्कार
  • Nazir Wani कभी आतंकियों के साथ थे,
  • इस गणतंत्र दिवस २६ जनवरी पर सैनिकों को उनकी वीरता के लिए भारत सरकार की और से 5 कीर्ति और 12 शौर्य चक्र दिए जाएंगे
  • नजीर वानी ने साल 2004 में आर्मी ज्वाइन की थी, 34 राष्ट्रीय राइफल्स में लांस नायक थे

New DElhi. Kashmir में आतंकियों का साथ छोड़कर Indian Army में शामिल हुए लांस नायक Nazir Ahmed Wani को मरणोपरांत अशोक चक्र से नवाजा जाएगा। यह सम्मान गणतंत्र दिवस समारोह में उनके परिजनों को दिया जाएगा। पिछले साल नवंबर में शोपियां में मुठभेड़ के दौरान नजीर शहीद हो गए थे। इस ऑपरेशन में छह आतंकी मारे गए थे।

आतंकवाद छोड़ सेना में शामिल हुए थे नजीर

News Agency के मुताबिक, कुलगाम के चेकी अश्मुजी गांव में रहने वाले Nazir Ahmed Wani कभी आतंकियों के साथ थे, लेकिन उन्होंने रास्ता बदला और 2004 में टेरिटोरियल आर्मी की 162वीं बटालियन में शामिल हो गए। शहादत के वक्त वे 34 राष्ट्रीय राइफल्स में थे।

सच्चे सैनिक थे Nazir Ahmed Wani: Army

शहीद वानी के परिवार में पत्नी और दो बच्चे हैं। उन्होंने आतंकियों के खिलाफ कई ऑपरेशन में हिस्सा लिया। वीरता के लिए उन्हें 2007 और 2018 में सेना मेडल से भी नवाजा गया था। शहादत के बाद सेना के प्रवक्ता ने उन्हें सच्चा सैनिक बताया था।

5 कीर्ति और 12 शौर्य चक्र दिए जाएंगे

केंद्र सरकार की ओर से हर साल वीर सैनिकों को सम्मानित किया जाता है। इस साल गणतंत्र दिवस के मौके पर शहीद वानी के अलावा चार अफसरों और एक सैनिक को कीर्ति चक्र, वहीं 12 सैनिकों को शौर्य चक्र से नावाजा जाएगा।

Also Read: Listen Music and Watch Punjabi song

Also Read : Azad Soch Punjabi Newspaper




Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *